विश्व की प्रमुख फसलें और उनके लिए आवश्यक भू-जलवायु स्थिति की सूची

विश्व की प्रमुख फसलें और उनके लिए आवश्यक भू-जलवायु स्थिति की सूची

भू-जलवायु एक विशेष क्षेत्र में मौसम की लंबी अवधि का स्वरूप है। किसी विशेष क्षेत्र में छोटी अवधि के लिए वातावरण की स्थिति को मौसम कहते हैं। किसी विशेष स्थान के मौसम में प्रति घंटे, दिन-प्रति-दिन, महीने-दर-महीने या साल-दर-साल बदलाव हो सकता है। किसी क्षेत्र विशेष में 30 से अधिक वर्षों तक मौसमी गतिविधियों के आकलन के आधार पर वहां की जलवायु का निर्धारण किया जाता है। यहां, हम विश्व की प्रमुख फसलों और उसके लिए आवश्यक जलवायु की सूची दे रहे हैं जो विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों के लिए काफी उपयोगी साबित होगी।
विश्व की प्रमुख फसलें और उनके लिए आवश्यक भू-जलवायु स्थिति की सूची
1. चावल
तापमान: 15°-27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 100- 150 से.मी

मिट्टी: मृण्मय दोमट

उत्पादक: चीन, भारत, इंडोनेशिया, बांग्लादेश, थाईलैंड, जापान, म्यांमार, वियतनाम, मलेशिया, पाकिस्तान, श्रीलंका

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: थाईलैंड

2. गेहूं
तापमान: 12°-25 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 25-75 से.मी

मिट्टी: हल्की शुष्क मिट्टी और शुष्करहित मिट्टी

उत्पादक: चीन, भारत, अमरीका, रूस, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, पाकिस्तान, फ्रांस और तुर्की

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: संयुक्त राज्य अमेरिका

3. मक्का
तापमान: 15-27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 65-125 से.मी

मिट्टी: समुद्री कठोर मिट्टी से लेकर हल्की दोमट मिट्टी

उत्पादक: संयुक्त राज्य अमेरिका,चीन, ब्राजील, मैक्सिको, रूस, रोमानिया, भारत और दक्षिण अफ्रीका

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: संयुक्त राज्य अमेरिका

विश्व की प्रसिद्ध स्थानीय हवाओं की सूची

4. बाजरा
तापमान: 20°-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 25-75 से.मी

मिट्टी: रेतीली दोमट और दोमट मिट्टी

उत्पादक: चीन, संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, नाइजीरिया, यूक्रेन, थाईलैंड, रूस और तुर्की

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: संयुक्त राज्य अमेरिका

5. बाजरा (मोती बाजरा)
तापमान: 25°-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 25-60 से.मी

मिट्टी: रेतीली दोमट और दोमट मिट्टी

उत्पादक: भारत में- राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश

6. दाल (खरीफ)
तापमान: 20° -27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 25-60 से.मी

मिट्टी: रेतीली दोमट

उत्पादक: भारत में- मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल

विभिन्न नदियों के किनारे स्थित दुनिया के महत्वपूर्ण शहरों की सूची

7. मसूर (रबी)
तापमान: 15-25 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 25 to 50 से.मी

मिट्टी: चिकनी दोमट और दोमट मिट्टी

उत्पादक: यूरोप के भूमध्यसागरीय देश, मिस्र, ग्रीस, तुर्की, चीन, भारत (मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, और पश्चिम बंगाल)

8. तिलहन
तापमान: 15-30 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 30-50 से.मी

मिट्टी: चिकनी दोमट और दोमट मिट्टी

उत्पादक: भारत में: राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, बिहार, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तराखंड

9. मूंगफली
तापमान: 20-30 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 50-75 से.मी

मिट्टी: सिंचित रेतीला दोमट मिट्टी और काली मिट्टी

उत्पादक: भारत, चीन, संयुक्त राज्य अमेरिका, सूडान, सेनेगल, इंडोनेशिया, अर्जेंटीना, म्यांमार

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: संयुक्त राज्य अमेरिका

दुनिया की प्रमुख जलडमरूमध्यो (जलसंधियों) की सूची

1 0. गन्ना

तापमान: 20°-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 85-165 से.मी

मिट्टी: सिंचित निचले जलोढ़ मिट्टी, काले, लाल और भूरे रंग की मिट्टी

उत्पादक: ब्राजील, भारत, चीन, पाकिस्तान, थाईलैंड, मेक्सिको, क्यूबा, कोलम्बिया

अग्रणी निर्यातक: ब्राजील

11. चुकंदर
तापमान: 10-25 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 25-50 से.मी

मिट्टी: सिंचित चिकनी मिट्टी

उत्पादक: फ्रांस, संयुक्त राज्य अमेरिका, जर्मनी, रूस, चीन, यूक्रेन, पोलैंड, तुर्की

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: फ्रांस

12. कपास
तापमान: 18-27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 60-110 से.मी

मिट्टी: सिंचित चिकनी बलुई मिट्टी, दोमट मिट्टी और रेगिस्तानी मिट्टी

उत्पादक: चीन, संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, ब्राजील, पाकिस्तान, उजबेकिस्तान, मिस्र, तुर्की

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: संयुक्त राज्य अमेरिका

विश्व के प्रमुख नदियों की सूची

13. चाय
तापमान: 15-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 100-250 से.मी

मिट्टी: सिंचित चिकनी मिट्टी

उत्पादक: भारत, चीन, श्रीलंका, केन्या, इंडोनेशिया, बांग्लादेश, तुर्की

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: भारत

14. कॉफी
तापमान: 15-28 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 125-225 से.मी

मिट्टी: सिंचित जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: ब्राजील, कोलंबिया, इंडोनेशिया, वियतनाम, आइवरी-कोस्ट, मैक्सिको, घाना, कैमरून, भारत

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: ब्राजील

15. कोको
तापमान: 18°-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 100-250 से.मी

मिट्टी: सिंचित जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: इवोर कोस्ट, घाना, इंडोनेशिया, ब्राजील, कैमरून, नाइजीरिया, इक्वाडोर, कोस्टा-रिका।

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: इवोर कोस्ट

विश्व के सबसे ऊँचे झरनों की सूची

16. रबर
तापमान: 27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-250 से.मी

मिट्टी: सिंचित जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: थाईलैंड, इंडोनेशिया, मलेशिया, भारत, चीन, श्रीलंका, लाइबेरिया, ब्राजील

दुनिया के अग्रणी निर्यातक: थाईलैंड

17. जूट
तापमान: 25-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-250 से.मी

मिट्टी: सिंचित जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: बांग्लादेश, भारत, चीन, थाईलैंड, म्यांमार, ब्राजील और नेपाल

अग्रणी निर्यातक: बांग्लादेश

18. फ्लेक्स
तापमान: 10-20 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 15-20 से.मी

मिट्टी: चिकनी मिट्टी और दोमट मिट्टी

उत्पादक: भारत में- हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू एवं कश्मीर के जम्मू प्रभाग

दुनिया के सबसे बड़े झीलों की सूची

19. नारियल
तापमान: 27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 100-250 से.मी

मिट्टी: लैटेराइट लाल, रेतीले जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: भारत में – केरल (55%), तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, गोवा, गुजरात और महाराष्ट्र

20. ऑयल-पाम
तापमान: 27-33 डिग्री सेल्सियस (अधिकतम), 22-24 डिग्री सेल्सियस (न्यूनतम)

वर्षा: 250-400 से.मी

मिट्टी: चिकनी मिट्टी और जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: भारत – आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, असम, गुजरात, गोवा, केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, तमिलनाडु, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल

21. लौंग
तापमान: 25°35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 200- 250 से.मी

मिट्टी: लाल जलोढ़ मिट्टी

उत्पादक: भारत में -केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, अंडमान और निकोबार

विश्व के प्रमुख रेगिस्तानो की सूची

22. काली मिर्च
तापमान: 15°C to 40 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 200-300 से.मी

मिट्टी: रेतीला चिकनी मिट्टी, लाल चिकनी मिट्टी और लाल लैटेराइट रेतीले चिकनी मिट्टी

उत्पादक: भारत में – केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और पांडिचेरी

23. इलायची
तापमान: 10°-35 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-400 से.मी

मिट्टी: सिंचित लैटेराइट मिट्टी

उत्पादक: भारत में – केरल (60%), कर्नाटक (30%), और तमिलनाडु (10%)

24. हल्दी
तापमान: 20°-30 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-250 से.मी

मिट्टी: चिकनी दोमट मिट्टी और लाल दोमट मिट्टी

उत्पादक: भारत में – आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, ओडिशा, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल

जलवायु क्षेत्रों को उष्णकटिबंधीय, मानसूनी, शुष्क, गर्म, शीतोष्ण और शीत में समूहीकृत किया जा सकता है। उपरोक्त सूची में विश्व की प्रमुख फसलें और उनके लिए आवश्यक भू-जलवायु स्थिति दिया गया है

One thought on “विश्व की प्रमुख फसलें और उनके लिए आवश्यक भू-जलवायु स्थिति की सूची”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *